Sawan: सावन में शिवजी की पूजा क्यों की जाती है, रहस्य

Sawan शिवजी पूजा सावन

सावन में शिवजी की पूजा रहस्य

दोस्तों सावन (Sawan 2020) के महीने में शिवजी की पूजा क्यों की जाती है इसका रहस्य आज हम जानेंगे इस आर्टिकल्स में दोस्तों स्वागत है आपका टेक्नोलॉजी मगन ब्लॉक में चलिए जानते हैं।

Sawan शिवजी पूजा सावन Mahadev Shravan Month 2020

भगवान शिव जी की पूजा सावन में क्यों की जाती है? (Sawan 2020) 

सावन महीना भगवान शिव जी को बहुत ही प्रिय हैं, वेद शास्त्रों में बताया गया है की जो भक्त सावन के महीने में सच्चे मन से शिवजी की पूजा करता है। उसकी सभी मनोकामना पूर्ण होती है और फल की प्राप्ति होती है। इस बार सावन 2020 में 5 बार सोमवार है, और पांचों सोमवार को भगवान शिव जी की पूजा की जाएगी। हर सोमवार को भगवान शिव जी की कृपा से अद्भुत योग बना रहेगा। लेकिन क्या आप दोस्तों जानते हैं की सावन के महीने में भगवान श्री शिव जी की पूजा क्यों की जाती है। क्यों शिव जी को सावन महीना ही प्रिय है? आइए दोस्तों जानते हैं इसके पीछे का महान अद्भुत रहस्य के बारे में जो आपने शायद ही कभी सुना होगा….

भगवान शिव जी को सावन महीना क्यों प्रिय है?

दोस्तों माता सती पार्वती ने भगवान श्री शिव शंकर को हर जन्म में पाने का प्रण लिया था, माता सती ने अपने पिता राजा दक्ष के घर योग शक्ति से अपने शरीर का त्याग कर दिया था। इसके बाद उन्होंने हिमालय राज के घर पार्वती के रूप में जन्म लिया था। माता पार्वती ने भगवान शिव जी को पाने के लिए सावन महीने में कठोर तपस्या की थी। और तपस्या के बाद उन्होंने भगवान शिव जी से विवाह किया था। इसी कारण भगवान शिव जी को सावन महीने में पार्वती की कठोर तपस्या के फल स्वरुप सावन महीना अति उत्तम और शिव जी को प्रिय है।

भगवान शिव जी कौनसे दिन निंद्रा में सोते हैं?

भगवान श्री विष्णु जी देवशयनी एकादशी के दिन निद्रा मैं सो जाते हैं और चतुर्दशी के दिन भगवान श्री शिव शंकर निद्रा में सो जाते हैं। जब भगवान शिव जी निद्रा में सो जाते हैं तो उस दिन को शिव श्यानोत्सव के नाम से भी जाना जाता है। तब भगवान अपने दूसरे रूद्रअवतार रूप से सृष्टि का संचालन करते हैं। भगवान श्री रूद्र की स्तुति ऋग्वेद में बलवान में अधिक बलवान कहकर की गई है। तो दोस्तों आपको समझ में आ गया होगा कि भगवान श्री शिव शंकर और विष्णु जी कब निद्रा में सोते हैं।

रुद्राभिषेक का महत्व क्या है?

भगवान श्री विष्णु जी चातुर्मास माह में निद्रा में सो जाते हैं और भगवान शिव जी भी निद्रा में सो जाते हैं। तब पूरी सृष्टि का भार रुद्र पर आ जाता है, तब भगवान रुद्र को क्रोध भी बहुत जल्दी ही आता है और भगवान रुद्र प्रसन्न भी बहुत जल्दी होते हैं। इसी कारण सावन महीने में रुद्राभिषेक का महत्व ज्यादा माना गया है और रुद्राभिषेक की पूजा भी की जाती है। सावन महीने में भगवान शिव जी के रुद्राभिषेक का विशेष महत्व बताया गया है। ताकि पूजा से भगवान रुद्र और शिव शंकर अति प्रसन्न हो और अपने भक्तों पर अपना आशीर्वाद सदैव बनाए रखें।

The Mystery why Shiva is worshiped in Sawan

सावन महीने में मंगला गौरी का व्रत क्यों रखा जाता है? (Sawan शिवजी पूजा सावन)

दोस्तों सावन के महीने में मंगला गौरी के व्रत रखे जाते हैं, जो सुहाग के लिए माने जाते हैं यह व्रत जैसे मंगला गौरी व्रत और कोकिला व्रत है। यह व्रत सुहागन महिला मंगला गौरी व्रत को करती है यह अपने सुहाग के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यह व्रत सावन के महीने में माता पार्वती के लिए किया जाता है। इस व्रत से माता पार्वती प्रसन्न होती है और घर में सुख समृद्धि और सुहाग की लंबी उम्र मिलती है। माता पार्वती का आशीर्वाद सदैव रहता है। साथ ही आषाढ़ मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा से लेकर सावन मास की पूर्णिमा तक कोकिला व्रत भी रखा जाता है। इस वर्ष से माता पार्वती के आशीर्वाद से सौभाग्य और संपदा की इस व्रत से प्राप्ति होती है।

सावन महीना क्यों महत्वपूर्ण है? (Sawan 2020) 

दोस्तों कहा जाता है कि माता पार्वती की कठोर तपस्या से भगवान शिव जी प्रसन्न हो गए और फिर सावन के महीने में ही भगवान श्री शिव शंकर महादेव ने समुंद्र मंथन से निकले विष का पान किया था। जब पहली बार भगवान शिव शंकर पृथ्वी लोक पर आए। तब भगवान शिव शंकर अपने ससुराल यानी पृथ्वी लोक पर आए थे। तब भगवान शिव शंकर के आने पर जोरदार स्वागत किया था। भगवान शिव बहुत प्रसन्न हुए। तब वह सावन महीना था इसी कारण भगवान शिव जी को सावन महीना बहुत ही प्रिय हैं।

शिव शंकर सावन में ससुराल आते हैं?

कहते हैं की आज भी सावन में ससुराल आते हैं शिव जी, मान्यता है कि भगवान श्री शिव शंकर सावन के महीने में शिव जी पृथ्वी लोक अपने ससुराल आते हैं। साथ ही सावन के महीने में ही मरकंडू ऋषि के पुत्र मारकंडेय को शिवजी की कठोर तपस्या से वरदान प्राप्त किया था जिससे यमराज भी नतमस्तक हो गए।

दोस्तों हमें उम्मीद है कि आप को भगवान श्री शिव शंकर का रहस्य जरूर पसंद आया होगा तो कमेंट बॉक्स में अवश्य बताइए और अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें लाइक करें। अपना कीमती समय अवश्य दीजिए

दोस्तों एक हमारी यूट्यूब चैनल है टेक्नोलॉजी मगन उस पर आपको रोचक तथ्य रहस्य टेक्नोलॉजी से जुड़ी सारी जानकारी मिलेगी एक बार जरूर जाइए

The Mystery why Shiva is worshiped in Sawan – comment

अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद

3 thoughts on “Sawan: सावन में शिवजी की पूजा क्यों की जाती है, रहस्य”

  1. Pingback: तुलसीदास का जीवन परिचय रामचरितमानस और कौन-कौन से ग्रंथों के रचिता है। » Information

  2. Pingback: Tajmahal ke Rahasya - ताजमहल के 5 रहस्य, जानकर चौंक जाएंगे » Mystery

  3. Pingback: Parijat Tree: पारिजात पेड़ का रहस्य, राम मंदिर भूमि पूजन मैं पीएम मोदी ने किया पौधारोपण » Mystery

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: